Ibaadath Karo

है दुनिया के लोगों
ऊंची आवाज करो
गावों ख़ुशी के गीत
उसका गुणगान करो
इबादत करो उसकी इबादत करो
इबादत करो उसकी इबादत करो (2)

याद रखो की वही एक खुदा हैं
हम को ये जीवन उसीने दिया हैं
उस चारागाह से हम सब हैं आये
हम्दो सना के हम गीत गाये
रब का तुम शुक्र करो
ऊंची आवाज करो
गावों ख़ुशी के गीत
उसका गुणगान करो      ||इबादत||

नामी खुदावंद कितना मुबारक
मेरा खुदावंद कितना भला हैं
रेहमत है उसकी सदियों पुरानी
वफ़ा का अज़र से यही सिलसिला हैं
उसपर इमान धरो
उसके घर आओ चलो
गावों ख़ुशी के गीत
उसका गुणगान करो   ||इबादत||   ||है दुनिया||

Hey Duniyaa Ke Logon
Oonchi Aawaaj Karo
Gaawon Khushi Key Geeth
Uskaa Gungaan Karo
Ibaadath Karo Uski Ibaadath Karo
Ibaadath Karo Uski Ibaadath Karo (2)

Yaad Rako Ki Vahi Ek Khudaa Hein
Hum Ko Ye Jeevan Useene Diyaa Hein
Us Chaaragaah Se Hum Sab Hein Aaye
Humd o Sana Ke Hum Geeth Gaaye
Rab Ka Thum Shukr Karo
Oonchi Aawaaj Karo
Gaawon Khushi Key Geeth
Uskaa Gungaan Karo    ||Ibaadath||

Naamey Khudaawand Kithnaa Mubaarak
Meraa Khudaawand Kithnaa Bhalaa Hein
Rehmath Hei Uski Sadiyon Puraani
Wafaa Kaa Azar Se Yahi Silsila Hein
Uspar Eeman Dharo
Uske Ghar Aao Chalo
Gaawon Khushi Key Geeth
Uskaa Gungaan Karo   ||Ibaadath||      ||Hei Duniyaa||

Download Lyrics as: PPT

FavoriteLoadingAdd to favorites

Leave a Reply